Administration Latest News News Udaipur

न्यूज़27/उदयपुर/भरत/ओला/उबेर जैसे एग्रेगेटर के अधीन चलने वाले वाहनों के विरूद्ध परिवहन विभाग की छापामार कार्यवाही।

“ओला/उबेर जैसे एग्रेगेटर के अधीन चलने वाले वाहनों के विरूद्ध परिवहन विभाग की छापामार कार्यवाही”

उदयपुर-ओला/उबेर वाहन चालकों की षिकायत के मध्येनजर परिवहन विभाग द्वारा कड़ी कार्यवाही की गई। प्रादेषिक परिवहन अधिकारी प्रकाश सिंह राठौड़ के निर्देषन में जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा के नेतृत्व में 2 उड़नदस्तों द्वारा सघन चैंकिंग अभियान एवं डिकॉय ऑपरेशन किया गया। काफी समय से उदयपुर में ओला/उबेर चालकों के अभद्र व्यवहार, अधिक किराया वसूलने एवं टेक्सी बुक करने के बाद भी टेक्सी लाने से इंकार करने पर एवं ग्राहकों की बुकिंग केन्सिल करने की षिकायत प्राप्त हो रही थी। उक्त प्राप्त षिकायतों द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए प्रादेषिक परिवहन अधिकारी प्रकाष सिंह राठौड़ के निर्देषन में जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा के नेतृत्व दोनों टीमों को डबोक रोड व प्रतापनगर रोड पर डिकॉय ऑपरेषन और मोटर वाहन नियम उल्लंघन के चालान बनाने के निर्देष दिये।

दोनों टीमों ने कुल 52 टेक्सी चालकों के खिलाफ चालान बनाये। चैंकिंग के दौरान पाया गया कि वाहन चालकों द्वारा बिना फिटनेस, बिना इन्सोरेंश, बिना पीयूसी के वाहनों का संचालन किया जा रहा था। सड़क सुरक्षा के मानकों का ध्यान नहीं रखा जा रहा था। 125-150 प्रतिषत अधिक किराया लिया जा रहा था। कई यात्रियों ने वाहन चालकों के अभद्र व्यवहार की षिकायत की। ओला/उबेर कम्पनी द्वारा यात्रियों की षिकायत पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। नियमानुसार अगर कोई यात्री वाहन चालक के खिलाफ षिकायत करता है तो उसे ब्लेक लिस्ट किया जाना आवष्यक है। मगर ओला/उबेर कम्पनी द्वारा आजतक एक भी चालक के खिलाफ कार्यवाही नहीं की।

कुछ प्रकरणों में ओला/उबेर चालको ने यात्रियों से ज्यादा किराया वसूल करने के बाद ओला/उबेर कम्पनी को यात्रियों द्वारा किराया ना देने की रिपोर्ट दी गई। इन सब षिकायतों पर परिवहन विभाग ने कड़ा रूख अपनाया है और यह अभियान निरन्तर जारी रहेगा। ओला/उबेर कम्पनी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के नवीन प्रावधानों के अनुसार ऐसे प्रत्येक प्रकरण में ओला/उबेर कम्पनी के विरूद्ध एक लाख रूपये का जुर्माना और लाईसेन्स निरस्त की कार्यवाही की जा सकती है। जिन यात्रियों ने ओला/उबेर कम्पनियों के खिलाफ कोई ई-मेल षिकायत कर रखी है और कम्पनी द्वारा सुनवाई नहीं की गई है। तो वे प्रादेषिक परिवहन कार्यालय की ई-मेल आईडी rto.udaipur.tport@rajasthan.gov.in पर समस्त तथ्यों सहित मेल कर सकते है।

प्रकरण 1ः एक यात्री से ओला/उबेर चालक ने डबोक से लखावली तक का 800 रूपये किराया वसूला।
प्रकरण 2ः एक महिला यात्री से तय किराये 104 रूपये के बदले धमकाकर 150 रूपये वसूले गये एवं वसूल किये गये पैसे ओला कम्पनी में जमा नहीं कराये।
प्रकरण 3ः बिना फिटनेस के वाहन में यात्रियों को बैठाकर जान जोखिम में डाली
प्रकरण 4ः डबोक एयरपोर्ट के लिए बुकिंग करने के बाद वाहन ले जाने से इंकार कर दिया एवं दुगुने पैसे नहीं देने पर बुकिंग कैन्सिल करने की धमकी दी।

 

About the author

News27

भरत मिश्रा
(क्राइम रिपोर्टर)न्यूज़27 चैनल
एवं
जिला महासचिव
जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ राजस्थान(जार)

Add Comment

Click here to post a comment

http://news27.co

%d bloggers like this: